अकबर का इस्तीफा – नैतिकता या मजबूरी ?

अकबर का इस्तीफा – नैतिकता या मजबूरी ?

नैतिकता का लबादा अधिकतर हम समाज को देखते हुए और उसे दिखाने के लिये भी ओढ़ते हैं। आत्मस्वीकृति और अपराध की स्वीकारोक्ति सभी धर्मों में एक महान कर्म माना गया है पर राजनीति में यह कदम एक रणनीति का रूप ले लेता है। जब एमजे अकबर के खिलाफ पहली आपबीती प्रिया रमानी की मी टू […]

Read More
 अकबर मामले में राज्यसभा के सभापति-उपसभापति को रवीश कुमार का पत्र

अकबर मामले में राज्यसभा के सभापति-उपसभापति को रवीश कुमार का पत्र

माननीय श्री सभापति/ श्री उपसभापति राज्य सभा आदरणीय उपराष्ट्रपति जी और उपसभापति जी, आप राज्य सभा, जिसे उच्च सदन कहते हैं, के सभापति हैं। आपके सदन के सदस्य मुबशिर जावेद अकबर पर सोलह महिला पत्रकारों ने यौन उत्पीड़न और प्रताड़ना के आरोप लगाए हैं। उनके साथ दि एशियन एज की बीस महिला पत्रकारों ने अदालत […]

Read More
 हिन्दी अख़बारों चैनलों से ग़ायब क्यों है अकबर पर लगे आरोपों के डिटेल

हिन्दी अख़बारों चैनलों से ग़ायब क्यों है अकबर पर लगे आरोपों के डिटेल

14 महिला पत्रकारों ने मुबशिर जावेद अकबर पर संपादक रहते हुए शारीरिक छेड़छाड़ के आरोप लगाए हैं। ये सारे लेख अंग्रेज़ी में लिखे गए हैं और अंग्रेज़ी की वेबसाइट पर आए हैं। हफिंग्टन पोस्ट, मीडियम, दि वायर, वोग, फर्स्टपोस्ट, इंडियन एक्सप्रेस। ग़ज़ाला वहाब, कनिका गहलौत, प्रिया रमानी, प्रेरणा बिंद्रा सिंह, शुमा राहा, प्रेम पणिक्कर, सुपर्णा […]

Read More