नज़रिया – धर्म नही बल्कि जनता का जाग जाना, सत्ता की चिंता की वजह है

नज़रिया – धर्म नही बल्कि जनता का जाग जाना, सत्ता की चिंता की वजह है

पाकिस्तान, भारत और बांग्लादेश, एक ही वतन और एक ही बदन के दो हिस्से थे, अब तीन हैं। 1947 का बंटवारा, एक बहुत बड़ी ऐतिहासिक भूल, राजनीतिक महत्वाकांक्षा, पागलपन भरे दौर, और अंग्रेजों की साज़िश का दुष्परिणाम था। यह बंटवारा मुझे फ़र्ज़ी, अतार्किक और बनावटी लगता है। लेकिन इधर कुछ बड़ी सकारात्मक चीज़े हुयी हैं। […]

Read More