नज़रिया – सियासत और टीवी का गठजोड़ एक समुदाय के लिए ज़मीन तंग करने में भिड़ा हुआ है

नज़रिया – सियासत और टीवी का गठजोड़ एक समुदाय के लिए ज़मीन तंग करने में भिड़ा हुआ है

प्रशासनिक सेवाओं में मुसलमानों का प्रतिनिधित्व साढ़े तीन प्रतिशत ही है। कभी कभी यह आंकड़ा चार या साढ़े चार प्रतिशत तक पहुंचता है। लेकिन इसके बावजूद एक तथाकथित ‘भगवाधारी’ एंकर को इतनी मौजूदगी भी तकलीफ दे रही है। वह भारत के उस विश्विद्यालय की शिक्षा पर सवाल उठा रहा जिसने हाल ही में देश की […]

Read More
 नफ़रत की उपजाऊ ज़मीन है, सोशल मीडिया पर ब्रेनवाश का सिस्टम

नफ़रत की उपजाऊ ज़मीन है, सोशल मीडिया पर ब्रेनवाश का सिस्टम

हमारे भारत में बहुत लोग बसते हैं। हमारी तादाद भारी है। उसमें नयी उम्र के लोग कहिये तो काफी से भी ज्यादा हैं। हमारे इस प्यारे से देश में आज भी गाँव और छोटे शहर ही ज्यादा हैं। और ऐसे हर शहर और हर छोटे-बड़े गाँव में पल रहे युवाओं में फैशन का शौक टीवी […]

Read More