'गोपालदास नीरज' के गीत जो उनके जाने के बाद भी उन्हें ज़िन्दा रखेंगे

'गोपालदास नीरज' के गीत जो उनके जाने के बाद भी उन्हें ज़िन्दा रखेंगे

एक गीत था, जिसकी धुन एसडी बर्मन ने गुरु दत्त को सुनायी थी और गुरु दत्त ने उसे ख़ारिज़ कर दिया था। हालांकि अबरार अल्वी को वह धुन पसंद थी। बेशक तब उस धुन में शब्द नहीं डले थे। गोपाल दास नीरज के शब्दों के साथ वह धुन खिल गयी और सन 1970 में प्रेम […]

Read More