महात्मा गांधी से एक मुलाकात में “गांधीवादी” हो गए थे चार्ली चैप्लिन।

महात्मा गांधी से एक मुलाकात में “गांधीवादी” हो गए थे चार्ली चैप्लिन।

2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर में जन्मे मोहनदास करमचंद गांधी केवल एक व्यक्तित्व नहीं है।वो एक सोच हैं जो तब तक जिंदा रहेगी जब तक भारतवर्ष रहेगा, इसलिए तो कहते है कि भारत के राष्ट्रपिता और बापू की उपाधि उन्हें यूं ही नहीं मिली। बता दूं कि, भारत के इतिहास को जब भी […]

Read More
 मिल मज़दूरों के लिए इस मांग के साथ  डंट गए थे महात्मा गांधी

मिल मज़दूरों के लिए इस मांग के साथ डंट गए थे महात्मा गांधी

एक अमीर मिल मालिक का बेटा अपने दोस्त को, मजदूरों के बीच लीडर बनाकर बिठा देता है। दोस्त मजदूरों की बस्ती में रहता है। जब मजदूरों का दर्द समझता है, तो अपने ही दोस्त.. याने मिल मालिकों के खिलाफ हो जाता है। राजेश खन्ना और अमिताभ की इस मूवी को आपने जरूर देखा होगा। कर्तव्य […]

Read More
 महात्मा गांधी का यह किस्सा, एक बार फिर याद कर लीजिए

महात्मा गांधी का यह किस्सा, एक बार फिर याद कर लीजिए

जो कपड़े रंगने के काम आता, बंगाल और बिहार के किसानों के गले का हलाहल था। एक एकड़ जमीन में तीन काठी भूमि पर नील उगाना जरूरी था। नील जहां लगती, जमीन बेकार हो जाती। तो सरकारी अफसर और ठेकेदारों के गुमाश्ते उसे अगली बार बेहतर जमीन पर उगवाते। तो खाने के लिए अनाज की […]

Read More
 जो झूठ पहले छिप कर बोला जाता था, अब खुले आम बोला जा रहा है

जो झूठ पहले छिप कर बोला जाता था, अब खुले आम बोला जा रहा है

2014 के बाद देश की राजनीति में सबसे महत्वपूर्ण परिवर्तन यह आया है कि झूठ या फर्जीवाड़ा, जो पहले लुकछिप पर कुछ अपराध बोध के साथ बोला या किया जाता था, वह अब आम होने लगा है। खुलकर होने लगा है। राजनीति में सत्य और असत्य का भेद वैसे भी कभी नहीं रहा है और […]

Read More
 वो अंग्रेज़ महिला जिसे भारतीयों ने माँ की उपाधि दी थी….

वो अंग्रेज़ महिला जिसे भारतीयों ने माँ की उपाधि दी थी….

लंदन ( Landon) में जन्मी एनी बेसेंट (Annie besent) ने हमेशा भारत को अपना घर माना। 1920 का दशक था जब एनी भारत आई थी, एनी ने भारतीय संस्कृति को खुद में आत्मसात किया था। वो यहाँ ऐसे रहा करती थी जैसे भारत से उनका पुराना नाता हो। उन्होंने दुनियाभर के धर्मों का अध्ययन करके […]

Read More
 भारत को “गांधी” देने वाला अंग्रेज़ डायरेक्टर

भारत को “गांधी” देने वाला अंग्रेज़ डायरेक्टर

90 के दौर में पैदा होने वाले बच्चे जो आज मैच्योर हो गए हैं उनकी लाइफ में कुछ बातें ही नहीं बहुत सारी बातें फेमस हैं। जैसे फिल्में जो बड़ी मुश्किलों के बाद देखने को मिल पाती थी लेकिन जो देखी थी तो आज भी याद हैं। इन फिल्मों ही में एक फ़िल्म थी “Jurassic […]

Read More
 विरोधियों की संवैधानिक आज़ादी पर महात्मा गांधी क्या सोचते थे ?

विरोधियों की संवैधानिक आज़ादी पर महात्मा गांधी क्या सोचते थे ?

विनायक दामोदर सावरकर से प्रेरित हम उम्र युवा मदनलाल धींगरा ने अंगरेज अधिकारी कर्नल वाइली की लंदन में सरेआम हत्या कर दी। इस पर गांधी का लिखा विवरण इस तरह है ‘‘वे काफी समय तक लन्दन में रहे। यहां उन्होंने भारत की आजा़दी के लिए एक आन्दोलन चलाया। वह एक वक्त में ऐसी हालत में […]

Read More
 किसानों की समस्याओं पर योगी सरकार को घेरने कांग्रेस का मेगा प्लान तैयार

किसानों की समस्याओं पर योगी सरकार को घेरने कांग्रेस का मेगा प्लान तैयार

कांग्रेसी कार्यकर्ता किसान मांग पत्र लेकर डेढ़ करोड़ किसानों से करेंगे जनसंपर्क उत्तर प्रदेश में कांग्रेस ने पूरे सूबे में किसानों के मुद्दे पर आंदोलन की तैयारी कर ली है। योगी सरकार को घेरने के मंसूबे के साथ पूरे सूबे में भाजपा सरकार की नीतिओं से नाराज़ किसानों के बीच में कांग्रेस कार्यकर्ता जाकर उनको […]

Read More
 गांधी टोपी का इतिहास

गांधी टोपी का इतिहास

गांधी कैप या गांधी टोपी का सम्बंध भारत के स्वाधीनता संग्राम के इतिहास से जुड़ा हुआ है। यह एक सामान्य से किश्ती या नाव के आकार की टोपी है जो आज़ादी की लड़ाई के दौरान सुराजी, ( यह शब्द उन सभी सत्याग्रहियों के लिये प्रयुक्त होता था जो गांधी जी के आदर्शों पर अंग्रेज़ो के […]

Read More
 कैसे थे महत्मा गांधी और बिड़ला परिवार के सम्बन्ध?

कैसे थे महत्मा गांधी और बिड़ला परिवार के सम्बन्ध?

गांधी भी अजीब हैं। जो उनसे नफरत करते हैं वे भी उन जैसा बनना चाहते हैं। वे न उगलते बनते हैं न निगलते। न उन्हें खारिज किये बनता है, न उन्हें अपनाए। खारिज़ करें तो दुनिया सवाल करने लगती है, अपनाएं तो आत्मा की शुचिता और दौर्बल्य आड़े आता है। दुनिया के इतिहास में किसी […]

Read More