चुनावों में गायब हो रहे हैं जीवन से जुड़े मुद्दे

चुनावों में गायब हो रहे हैं जीवन से जुड़े मुद्दे

किसी भी देश मे चुनाव जनमत का अक़्स होता है। यह जनता की राय नहीं होती है यह केवल जनता का इतना मत होता है कि वह अमुक दल या व्यक्ति को चाहती है या अमुक व्यक्ति या दल को नहीं चाहती है। जिस विंदु पर जनता की राय ली जाती है, वह प्रक्रिया जनमतसंग्रह […]

Read More
 क्या किसानों की समस्याएं और बेरोज़गारी, हरियाणा और महाराष्ट्र में मुद्दा नहीं है ?

क्या किसानों की समस्याएं और बेरोज़गारी, हरियाणा और महाराष्ट्र में मुद्दा नहीं है ?

राहुल कोटियाल एक स्वतंत्र पत्रकार हैं, जो आपण ग्राउन्ड रिपोर्टिंग को कलमबद्ध करने के अनोखे अंदाज के लिए जाने जाते हैं। दो राज्यों में चुनाव हो रहे हैं. इनमें से एक राज्य किसान आत्महत्याओं के मामले में टॉप पर है तो दूसरा बेरोज़गारी दर के मामले में सर्वोच्च स्थान बना चुका है। महाराष्ट्र में किसान […]

Read More
 कर्ज़माफ़ी भीख नहीं किसानों का हक़ है

कर्ज़माफ़ी भीख नहीं किसानों का हक़ है

मिडिल क्लास को बड़ा गुरूर है टैक्स देने का. चले तो आख़िरी चवन्नी बचाने लेने वाला यह क्लास किसानों की कर्ज़माफ़ी को लेकर बहुत उछल रहा है मानो उसकी तनख्वाह से पैसा काट के दिया गया है. उसे लगता है देश उसी के पैसे से चलता है तो दुनिया की सारी सुविधा उसी को मिलनी […]

Read More
 किसानों की व्यथा पर संसद मार्ग में इकठ्ठा हुआ जनसैलाब

किसानों की व्यथा पर संसद मार्ग में इकठ्ठा हुआ जनसैलाब

दिल्ली के पॉश एरिया संसद मार्ग में देशभर के किसान अपनी मांगों के फिर से एक मंच पर आये है. किसान संगठित होकर सरकार पर दबाव बनाने की कोशिश में हैं. दिल्ली में देश भर से करीब 180 किसान संगठनों ने एक मंच पर आकर सरकार को चुनावी वादे याद दिलाये. खास बात ये रही  […]

Read More