भारतीय अर्थव्यवस्था “महान मंदी” (द ग्रेट डिप्रेशन ) की ओर बढ़ रही है

भारतीय अर्थव्यवस्था “महान मंदी” (द ग्रेट डिप्रेशन ) की ओर बढ़ रही है

भारत का निर्यात पिछले साल के इसी महीने के 26.07 अरब डॉलर से घटकर 25.98 अरब डॉलर रह गया। अक्टूबर के मुकाबले भी नवंबर में निर्यात कम हुआ है। इस साल अक्टूबर में भारत ने 26.38 अरब डॉलर मूल्य की वस्तुओं का निर्यात किया था। यह लगातार चौथा महीना है जब देश के निर्यात में […]

Read More
 देश की 25 बैंकों के NPA को खरीदने के लिए RBI पर दबाव बना रही सरकार

देश की 25 बैंकों के NPA को खरीदने के लिए RBI पर दबाव बना रही सरकार

मोदी सरकार का मन रिजर्व बैंक के 1 लाख 76 हजार करोड़ हड़पने से भी नही भरा है। अब वह चाह रही है, कि रिजर्व बैंक एक स्ट्रेस एसेट फंड (Stress Asset Fund) स्कीम लेकर के आए जिसके जरिए बैंकों पर बढ़ते फंसे कर्ज यानी नॉन-परफॉर्मिंग एसेट का भार कम हो जाए।  इसी के चलते […]

Read More
 आपका बैंक अकाउंट खतरे में है – ( पार्ट – 3)

आपका बैंक अकाउंट खतरे में है – ( पार्ट – 3)

इस संबंध में पिछली दो पोस्ट पढ़ने के बाद आप यह तो जान गए होंगे कि, भारत की डिजिटल बैंकिंग भगवान भरोसे चल रही है। और सरकार, बैंक और टेक कंपनीज मौन साध कर बैठे हैं। हमारी रिसर्च के चौकाने वाले परिणामों के बाद हमने भारत के लगभग सभी बड़ी बैंको की ऍप्स की हार्डकोर […]

Read More
 मंदी का गहरा असर, घट रही है ग्रामीण भारत की क्रयशक्ति

मंदी का गहरा असर, घट रही है ग्रामीण भारत की क्रयशक्ति

1930 की वैश्विक महामंदी मे अमेरिकी जनता पर इस स्लो डाउन का इतना मनोवैज्ञानिक असर पड़ा कि वहां के लोगों ने अपने खर्चो में दस फीसदी तक की कमी कर दी जिससे मांग प्रभावित हुई’। क्या ठीक यही परिस्थिति हम यहाँ बनते नही देख रहे हैं? भारत के आम आदमी ने अपने खर्चो मे दस […]

Read More
 आर्थिक समस्याएं सरकार की प्राथमिकता में क्यों नहीं है ?

आर्थिक समस्याएं सरकार की प्राथमिकता में क्यों नहीं है ?

21 अक्टूबर को महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा के लिये चुनाव हो रहे हैं और अब मतगणना शेष है। पर इस चुनावो में प्रचार हेतु सत्तारूढ़ दल ने अपने एजेंडे में अनुच्छेद 370, सर्जिकल स्ट्राइक, सावरकर और कश्मीर तो रखा, पर महाराष्ट्र को हिला देने वाला बैंकिंग घोटाला, पीएमसी बैंक से जुड़े मसले और खाताधारकों की […]

Read More
 अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर चीन और भारत के बीच खाई बढ़ती ही जा रही है

अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर चीन और भारत के बीच खाई बढ़ती ही जा रही है

जब चीन का सरकारी मीडिया दावा करता है कि भारत में एक बार फिर से मोदी सरकार ही आएगी तो सारे मोदी समर्थक आगे बढ़ बढ़ कर यह खबर शेयर करते हैं लेकिन, जब वही चीन का सरकारी मीडिया कहता है कि मोदी सरकार अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर फेल नजर आ रही है तो मोदी […]

Read More
 क्या सरकार आर्थिक मोर्चे पर झूठे और मेन्युपुलेटेड आंकड़े पेश कर रही है?

क्या सरकार आर्थिक मोर्चे पर झूठे और मेन्युपुलेटेड आंकड़े पेश कर रही है?

यह सरकार भारत के इतिहास में सिर्फ झूठ बोलने ओर आंकड़ो को अपने हिसाब से मैनिपुलेट करने के लिए जानी जाएगी. कल (29 जनवरी 2019 को ) खबर आई कि वित्त वर्ष 2017-18 में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) 18 फीसद बढ़कर 28.25 लाख करोड़ रुपये हो गया, यह खबर सभी बड़े अखबारों की हेडिंग बन […]

Read More
 पीएम मोदी के साढ़े 4 साल में भारत पर बढ़ा 49 फीसदी क़र्ज़

पीएम मोदी के साढ़े 4 साल में भारत पर बढ़ा 49 फीसदी क़र्ज़

कल एक हैरान करने वाली खबर आई कि पीएम मोदी के साढ़े 4 साल के कार्यकाल में भारत सरकार पर 49 फीसदी का कर्ज बढ़ा है, केंद्र सरकार ने कर्ज पर कल अपनी स्टेटस रिपोर्ट का आठवां संस्करण जारी किया जिसके मुताबिक जून, 2014 में सरकार पर कुल कर्ज 54,90,763 करोड़ रुपये था, जो सितंबर […]

Read More
 यह मामला सीधा आपकी जेब से जुड़ा हुआ है….

यह मामला सीधा आपकी जेब से जुड़ा हुआ है….

कहते है.. बिना आग के धुंआ नही उठता, कल रिजर्व बैंक ने भुगतान और निपटान कानूनों में बदलाव के बारे में सरकार की एक समिति की कुछ सिफारिशों के खिलाफ बेहद कड़े शब्दों वाला अपना असहमति नोट (डिसेंट नोट) सार्वजनिक किया है, इसका सरल अर्थ यह है कि खुद रिजर्व बैंक के मन में सरकार […]

Read More
 मोदीराज में अमीरों के 3 लाख करोड़ के लोन माफ़ हुए

मोदीराज में अमीरों के 3 लाख करोड़ के लोन माफ़ हुए

मोदी राज के चार साल में 21 सरकारी बैंको ने 3 लाख 16 हज़ार करोड़ के लोन माफ कर दिए हैं। क्या वित्त मंत्री ने आपको बताया कि उनके राज में यानी अप्रैल 2014 से अप्रैल 2018 के बीच तीन लाख करोड़ के लोन माफ किए गए हैं? यही नहीं इस दौरान बैंकों को डूबने […]

Read More