अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर शोषित तबकों की आवाज़ बन चुकी हैं मनीषा बांगर

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर शोषित तबकों की आवाज़ बन चुकी हैं मनीषा बांगर

14 अप्रैल 2013 का वह एक खास क्षण था. जब डॉ. मनीषा बांगर ( Dr Manisha Bnagar ) उस कोलम्बिया युनिवर्सिटी ( Columbia University ) में मौजूद थीं जहां कोई सौ वर्ष पहले बाबा साहब भीम राव अम्बेडकर ( Dr Bhimrao Ambedkar ) उच्च शिक्षा प्राप्त करने पहुंचे थे. डॉ मनीषा, ‘हंडरेड ईयर्स ऑफ कोलम्बियन […]

Read More
 दलित एवं पिछड़ों की आवाज़ थे कांशीराम

दलित एवं पिछड़ों की आवाज़ थे कांशीराम

अलग अलग समय पर दुनिया भर में सामाजिक अत्याचारों और भेदभाव के खिलाफ संघर्ष होते रहे हैं.इन संघर्षों से कई बड़े नेता उभर कर सामने आते रहे हैं.जैसे दक्षिण अफ्रीका में नस्लीय भेदभाव के विरुद्ध नेल्सन मंडेला, अमरीका में अब्राहम लिंकन एवं मार्टिन लूथर किंग. भारत में भी जात-पात, छुआछूत तथा नस्लीय भेदभाव के विरुद्ध […]

Read More