केजरीवाल से जो भी भिड़ा, आप ने दिखाया  बाहर का रास्ता!

केजरीवाल से जो भी भिड़ा, आप ने दिखाया बाहर का रास्ता!

राजनीती में बदलाव, भ्रष्टाचार विरोधी लहर और आंतरिक लोकतंत्र जैसे तमाम वादों पर सवार होकर सत्ता में आई पार्टी व्यक्ति केंद्रित बनकर रह गई है. उन्होंने जो अपनी टोपी पर स्लोगन लिखा था वो ही साबित कर दिया शायद, “मुझे चाहिए पूरी आजादी” जी हाँ, ठीक समझे आप हम बात कर रहे हैं आम आदमी […]

Read More