क्या बेटे के जन्म की इतनी कामना के पीछे जैव वैज्ञानिक कारण छिपे हैं?

क्या बेटे के जन्म की इतनी कामना के पीछे जैव वैज्ञानिक कारण छिपे हैं?

यह कहना कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी कि हम लैंगिकतावादी समाज का हिस्सा हैं जहाँ बोये बेटे ही जाते हैं बेटियां तो बस उग आती हैं। चिंताजनक लिंगानुपात और कन्या भ्रूण हत्या रोकने के कड़े कानून इसी वजह से हैं। इसका कारण पितृसत्तात्मक समाज को माना जाता है। आज के समय में देखा जाए तो लिंगभेद […]

Read More
 करुणा और ममता के सागर से भरी होती है "मां"

करुणा और ममता के सागर से भरी होती है "मां"

एक ऐसा शब्द जिसमे संसार की करुणा और ममता का सागर भरपूर मात्रा में हमेशा भरा रहता है । जिसकी कीमत न कोई चुका पाया है और न चुका पायेगा । माँ भी वही  इंसानी हाड़ की एक शाखा है  जो वही  दो आँख, दो पैर , नाक,  रूप व चाल ढाल ,शारीरिक संरचना , […]

Read More