क्या भारतीय मीडिया ठहराने और छुपाने के बीच का फ़र्क नही जानता?

क्या भारतीय मीडिया ठहराने और छुपाने के बीच का फ़र्क नही जानता?

मेरठ जनपद के मवाना क़स्बा मे मस्जिद मे ठहरी तब्लीग़ी जमाअत को मीडिया ट्रायल ने इस तरह से पेश किया जैसे यह कोई असामान्य घटना घट गई हो और यह तब्लीग़ी जमाअत, जमाअत न होकर कोई गैंग या गिरोह हो। सबसे पहले यह समझ लें कि तब्लीग़ी जमाअत है क्या ? तब्लीग़ी जमाअत एक ऐसी […]

Read More