धर्मनिपेक्षता पर पंडित नेहरू के क्या विचार थे ?

धर्मनिपेक्षता पर पंडित नेहरू के क्या विचार थे ?

‘‘हम भारत में धर्मनिरपेक्ष राज की बात करते हैं। लेकिन संभवतः हिंदी में ‘सेक्यूलर’ के लिए कोई अच्छा शब्द तलाशना भी मुश्किल है। कुछ लोग समझते हैं कि धर्मरिपेक्ष का मतलब कोई धर्मविरुद्ध बात है। यह बिल्कुल भी सही नहीं है। इसका मतलब तो यह है कि एक ऐसा राज जो हर तरह की आस्था […]

Read More
 व्यक्तित्व – कुछ बातें नेहरु के बहाने

व्यक्तित्व – कुछ बातें नेहरु के बहाने

आज 14 नवम्बर है और आज ही के दिन, इलाहाबाद में जवाहरलाल नेहरू का जन्म वर्ष 1889 ई में हुआ था। उनके जन्मदिन पर उन्हें स्मरण करते हुए Ashok Kumar Pandey जी का यह खूबसूरत लेख पढ़ें। जवाहर लाल नेहरु का ज़िक्र सोशल मीडिया, अखबारों और चंडूखानों में केवल 14 नवम्बर तक महदूद नहीं रहता। […]

Read More
 भारतीय अस्मिता की खोज और जवाहरलाल नेहरू

भारतीय अस्मिता की खोज और जवाहरलाल नेहरू

नेहरु के जन्मदिन पर यह विद्वतापूर्ण लेख हिन्दी आलोचना के शिखर पुरुष और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय जेएनयू के प्रोफेसर रहे स्वर्गीय नामवर सिंह का नेहरू पर एक व्याख्यान है। आपको अगर अकादमिक रुचि है तो, आप यह लेख पढ़ सकते हैं। प्रथम प्रधानमन्त्री और आधुनिक भारत के निर्माता जवाहरलाल नेहरु लेखक भी थे। ‘The Discovery […]

Read More
 जब नेहरू की मौत की खबर सुनकर शेख अब्दुल्ला फूट फूट कर रोये थे.

जब नेहरू की मौत की खबर सुनकर शेख अब्दुल्ला फूट फूट कर रोये थे.

शेष नारायण सिंह 1947 में कश्मीर का मसला जब संयुक्त राष्ट्र में ले जाया गया तो संयुक्त राष्ट्र में एक प्रस्ताव पास हुआ कि कश्मीरी जनता से पूछ कर तय किया जाय कि वे किधर जाना चाहते हैं . भारत ने इस प्रस्ताव का खुले दिल से समर्थन किया लेकिन पाकिस्तान वाले भागते रहे , उस […]

Read More