नज़रिया – इंसानी खून की कोई कीमत नहीं, क्या आप राक्षस बन चुके हैं ?

नज़रिया – इंसानी खून की कोई कीमत नहीं, क्या आप राक्षस बन चुके हैं ?

मुझे पता है यह जो मैं लिखने जा रहा हूँ, उससे आप कन्नी काटकर चुपचाप निकल जाएँगे । मेरे लफ़्ज़ आपके गिरेहबान तक तो जाएँगे चाहे मैं खुद को रोकना भले ही जितना चाहूँ । तेलंगाना में अभी कुछ रोज़ पहले एक लड़के को मार दिया गया क्योंकि उसने प्रेम किया था । उसकी पत्नी […]

Read More