कौटिल्य के अनुसार राज्य के सात आवश्यक तत्व

कौटिल्य के अनुसार राज्य के सात आवश्यक तत्व

सप्तांग राज्य की कल्पना प्राचीन भारतीय विचारको के अनुसार एक जीवित शरीर की कल्पना है जिसके सात अंग होते है। श्रग्वेद में समस्त संसार की कल्पना विराट पुरुष के रूप में कई गई है जिसके अवयव द्वारा सृष्टि की विभिन्न रूपो का बोध कराया गया। कौटिल्य भारतीय राजनीति के रंगमंच पर प्रथम विचारक है जिसने […]

Read More