October 20, 2021
क्या आप जानते हैं

क्या कप जानते हैं ? 2006 में गूगल ने यूट्यूब को 1.65 अरब यूएस डॉलर में खरीदा था

क्या कप जानते हैं ? 2006 में गूगल ने यूट्यूब को 1.65 अरब यूएस डॉलर में खरीदा था

साल 2006 में गूगल ने यूट्यूब को 1.65 अरब यूएस डॉलर में खरीदा लिया था। ऐसा इसलिए हुआ था क्योंकि यूट्यूब ने केवल एक साल में ही लोकप्रियता के सारे रिकॉर्ड तोड़ डाले थे। गूगल के बाद यूट्यूब दूसरे सबसे बड़े सर्च इंजन के रूप में उभरा है। यूट्यूब एक वीडियो शेयरिंग ऐप है, जहाँ आप कोई भी वीडियो देख सकते हैं और अपलोड भी कर सकते हैं। यहाँ हर तरह का वीडियो कंटेंट मौजूद हैं, इनमे कल्चर, म्यूजिक, डांस, इन्फॉर्मेशन, इंटरटेनमेंट, न्यूज़ आदि शामिल हैं। भारत मे आज कल यूट्यूब पर फ़ूड ब्लॉगिंग को बहुत पसंद किया जा रहा है।

यूट्यूब की शुरुआत :

यूट्यूब एक अमेरिकी सोशल मीडिया ऐप है जिसे 2005 में बनाया गया था। इसके निर्माता पेपैल कंपनी में काम करने वाले तीन सहयोगी कर्मचारी जावेद करीम, चाड हार्ले और स्टीव चेन ने की थी। हालांकि, इसके इतना लोकप्रिय होने का अंदाज़ा तो इन तीनो को भी नहीं था।

दाएं से बाएं, यूट्यूब के संस्थापक चाड हार्ले, स्टीव चेन और जावेद करीम (तसवीर : विकिपीडिया)

कहा जाता है कि यूट्यूब जैसे वीडियो ब्लॉगिंग ऐप बनाने का आइडिया इन्हें 2004 में आया था। यूट्यूब के ईजाद होने का कारण हिन्द महासागर में आए तूफान की वीडियो इंटरनेट पर न मिलने को माना जाता है। हार्ले और चेन के मुताबिक उन्हें एक ऑनलाइन डेटिंग सेवा “HOT OR NOT” पर वीडियो ऑप्शन मिलने से यूट्यूब का विचार आया। जिसके बाद 2006 में इसकी लोकप्रियता को देखते हुए गूगल ने 1.65 अरब यूएस डॉलर में यूट्यूब को खरीद लिया।

यूट्यूब की पहली वीडियो :

यूट्यूब पर पहली वीडियो फरवरी 2005 में अपलोड की गई थी। ये वीडियो यूट्यूब संस्थापक जावेद करीम की थी जिसमे वो एक ज़ू में दिखाई दे रहे हैं। इस वीडियो का नाम “mee at the zoo” है जो यूट्यूब पर अवेलेबल है। इसके अलावा यूट्यूब पर कोरियन सिंगर PSY का GANGAM STYLE गाना काफी फेमस हुआ था।

यूट्यूब पर सबसे बड़ा चैनल PEWDIEPIE है वहीं भारत मे सबसे ज़्यादा सब्सक्राइबर वाला चैनल Tseries है। एक मीडिया वेबसाइट के मुताबिक यूट्यूब पर एक इंसान औसतन 40 मिनट बिताता हैं। एक बार में यूट्यूब पर 400 घंटे की वीडियो अपलोड की जाती हैं।

यूट्यूब पर है मिलियन्स ऑफ यूज़र :

सोशल मीडिया के ज़माने में कोई भी शख्स ऐसा नहीं होगा जो दिन के कम से कम 3 घंटे सोशल मीडिया पर नहीं बिताता होगा। व्हाट्सएप, फेसबुक, इंस्टाग्राम और यूट्यूब ऐसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म है जिनके यूज़र की संख्या करोड़ो में है। अकेले यूट्यूब की बात की जाए तो स्टेटिक्स डॉट कॉम के आंकड़ों से पता चलता है की, यूट्यूब के 2,291 मिलियन यूजर हैं। वैसे ये वैश्विक आंकड़ा है, लेकिन भारत के संदर्भ में देखा जाए तो ये संख्या 225 मिलियन हैं।

कौंन होते हैं यूट्यूब :

यूट्यूब पर कोई भी वीडियो देख सकता और अपलोड कर सकता है। लेकिन जो लोग यूट्यूब पर काम करते हैं यानी अपना एक यूट्यूब चैनल बनाते हैं और उस पर लगातार वीडियो कंटेंट अपलोड करते हैं उन्हें यूट्यूबर कहा जाता है। ये यूट्यूब से पैसे भी कमाते हैं।

दरअसल, यूट्यूब गूगल ऐडसेंस से पैसे कमाता है जिसमे हर एक वीडियो में उसके दर्शको के अनुसार ऐड दिए जाते हैं। लेकिन पैसे कमाने के लिए किसी भी यूट्यूब चैनल पर सब्सक्राइबर और व्यूज की संख्या मायने रखती है। इसके अलावा अपनी पहली वीडियो के 40 घण्टे पूरे होने के बाद ही चैनल को मोनेटाइज करने के लिए अप्लाई किया जा सकता है।

About Author

Sushma Tomar