बॉलीवुड की मशहूर अदाकारा “सायरा बानो” भारतीय फिल्म इतिहास की सबसे लोकप्रिय और चर्चित अभिनेत्री रह चुकी हैं। सायरा बानो का बॉलीवुड सफर 1961-1988 तक रहा। अपने हुस्न और अदाओं से लोगों को दीवाना करने वाली सायरा बानो 1963-1969 तक भारतीय सिनेमा की तीसरी सबसे अधिक फीस लेने वाली एक्ट्रेस थी।

1971-1976 तक ज्यादा फीस लेने वाली अदाकाराओं की लिस्ट में चौथे नंबर पर शुमार रही। सायरा ने 1966 में भारतीय सिनेमा जगत के दिग्गज कलाकार “दिलीप कुमार” से शादी की, पर शादी के बाद किसी कारण दोनों के कोई औलाद नहीं हुई।

एक समय पर दिलीप साहब और सायरा बानो की प्रेम कहानी के कसीदे पढ़े जाते थे, पर आज सायरा बानो अकेली पड़ गई हैं। हाल ही में 7 जुलाई 2021 में दिलीप कुमार ने 98 वें साल की उम्र में इस दुनिया को अलविदा कह दिया और यह प्यारा जोड़ा अलग हो गय। 

उत्तराखंड में हुआ सायरा का जन्म 

सायरा बानो का जन्म 23 अगस्त 1944 में उत्तराखंड में हुआ। सायरा बानो की माता 1930-40 के दशक की मशहूर अभिनेत्री थी। जिनका नाम “नसीम बानो” था। सायरा बानो के पिता “एहसान-उल-हक” एक फिल्म प्रोड्यूसर भी थे। जिन्होंने फूल और वादा जैसी फिल्में बनाई।

सायरा जब बहुत ही छोटी थी, जब उनके माता-पिता का तलाक हो गया। जिसकी वजह से सायरा का बचपन लंदन में गुजरा। सायरा स्कूल के दिनों से ही एक्टिंग में दिलचस्पी लेने लगी थी।

अपने स्कूल के ड्रामा सायरा खूब सक्रीय रहती थीं।  बचपन से सायरा बानो की दो ही ख्वाहिश थी कि वह भी अपनी माँ नसीम बानो कू तरह इंडस्ट्री में अपना नाम कमाएं। साथ ही बचपन से ही दिलीप कुमार से शादी करना चाहती थीं। 1960 में सायरा ने लंदन से वापसी आकर सिनेमा जगत में आने का फैसला किया।

1960 से शुरू किया सिनेमा का सफर।

सायरा बानो ने 1960 में पहली बार “हम हिंदुस्तानी” फिल्म के लिए ऑडिशन दिया। सायरा की कम उम्र की वजह से इन्हें दूसरी हीरोइन का रोल ऑफर किया गया। परंतु सायरा को यह ठीक नहीं लगा और सायरा ने इंकार कर दिया।

सायरा कहती – “मैं करूंगी तो , मैंन हीरोइन का ही रोल करूंगी।” इसके बाद 1961 में सायरा बानो ने फिल्म “जंगली” से अपने सिनेमा के सफर का आगाज किया। इस फिल्म में सायरा बानो भारतीय सिनेमा के बहुत ही मशहूर कलाकार “शम्मी कपूर” के साथ दिखाई दी थीं।। इस फिल्म ने दीवानगी और जंगलीपन की एक ऐसी मिसाल कायम की, जो आज तक लोगों के दिल में घर किए हुए है।

इस फिल्म में सायरा बानो की जबरदस्त परफॉर्मेंस और खूबसूरती से लोगों को अपना दीवाना बना लिया। इसके बाद सायरा ने पड़ोसन , हेराफेरी और दीवाना जैसी फिल्मों से “फिल्मफेयर अवार्ड” में बेस्ट एक्ट्रेस की नॉमिनीस में अपनी जगह बनाई।

अपने काम के चलते सायरा की यह कोशिश भी रहती कि वह दिलीप कुमार साहब के साथ भी काम करें। परंतु दोनों की उम्र में 22 साल का फर्क होने की वजह से दिलीप कुमार यही सोचते कि “सायरा तो बच्ची है इसके साथ कैसे फिल्म करूं।”

1966 में हुई भारतीय आईकॉनिक कपल की शादी।

सायरा बानो 12 साल की उम्र से ही दिलीप कुमार की पत्नी बनने की ख्वाहिश रखती थी। सायरा बानो और दिलीप कुमार की पहली मुलाकात किसी एक्ट्रेस की बर्थडे पार्टी पर हुई, जहां दिलीप कुमार पहली नजर में सायरा बानो की खूबसूरती के कायल हो गए और अपना दिल सायरा बानो को दे बैठे।

एक मुलाकात से ही दोनों की लव स्टोरी की शुरुआत हुई। इसके बाद एक फिल्म की शूटिंग के दौरान दिलीप कुमार ने सायरा बानो को प्रपोज कर दिया जिसके बाद 11 अक्टूबर 1966 में दोनों की शादी हो गई।

शादी के वक्त सायरा की उम्र केवल 22 साल की थी और दिलीप कुमार 44 साल के थे। दोनों ने साबित कर दिया कि  प्रेम में उम्र के फासलों का कोई वजूद नहीं होता। बशर्ते मोहब्बत सच्ची हो। बस  ऐसे सायरा और दिलीप कुमार भारत के आईकॉनिक कपल बन गए।

 करोड़ो की संपत्ति की मालिकन हैं सायरा बानो

दिलीप कुमार एक लंबे समय से बीमारी से जूझ रहे थे। सायरा बानो ने दिलीप कुमार की बीमारी के समय अकेले ही उनका ख्याल रखा। जुलाई  2021 में दिलीप कुमार का खराब सेहत के चलते निधन हो गया और सायरा बानो को अकेला छोड़ दिया।

जिसके बाद सायरा बानो अकेली पड़ गई हैं।। आपको बता दें कि दिलीप कुमार करोड़ों की संपत्ति के मालिक थे। मगर उनके जाने के बाद 77 साल की सायरा को यह सब अकेले ही संभालना पड़ रहा है।

About Author

Tuba Ansari