अंतिम साँसें ले रहा "मुस्लिम प्रतिनिधित्व"

अंतिम साँसें ले रहा "मुस्लिम प्रतिनिधित्व"

पूर्व आईएएस टॉपर शाह फैसल ने अपने पद से त्यागपत्र देने के बाद एक नयी पार्टी का गठन किया है। शाह फैसल के इस फैसले का स्वागत होना चाहिये। उन्होने एक ऐसे समय मे यह फैसला लिया है जब काश्मीर गर्म तवे की तरह तप रहा है। यह बेहद हिम्मत की बात है जब काश्मीर […]

Read More
 नज़रिया – मुस्लिम प्रतिनिधित्व को कुचलने के लिए बेक़रार कन्हैया कुमार

नज़रिया – मुस्लिम प्रतिनिधित्व को कुचलने के लिए बेक़रार कन्हैया कुमार

मौसम के रूख के साथ राजनीति का रूख भी बदलना शुरू हुआ है। जैसे-जैसे सर्दी से बसंत की तरफ बढ़ रहे है तापमान भी बढ़ता जा रहा है। सर्दी तो छंट चुकी है और गर्मी के मौसम मे क़दम रख चुके है। मौसम के साथ-साथ चुनाव की तारीखों की घोषणा के बाद राजनीति का तापमान […]

Read More
 असम की राजनीति में "बदरुद्दीन अजमल" का उदय कैसे हुआ?

असम की राजनीति में "बदरुद्दीन अजमल" का उदय कैसे हुआ?

वह लोग भी बदरुद्दीन अजमल क़ासमी को दलाल घोषित कर रहे है जिन्हें यह भी मालूम नहीं कि असम की राजनीति का केंद्र बिंदु क्या है। असम में बदरुद्दीन अजमल के राजनीतिक उदय को समझने के लिए थोड़ा इतिहास में जाना पड़ता है। असम के दो आतंकी संगठनों “बोडो लिबरेशन टाइगर्स फ़ोर्स (बीएलटीएफ)” और “उल्फ़ा” […]

Read More
 जब राणा सांगा के लिए बाबर से लड़ते हुए शहीद हुए थे, राजा हसन ख़ान मेवाती

जब राणा सांगा के लिए बाबर से लड़ते हुए शहीद हुए थे, राजा हसन ख़ान मेवाती

जब बाबर काबुल में था, तो कहा जाता है कि राणा सांगा का उससे यह समझौता हुआ कि वह इब्राहीम लोधी पर आगरा की ओर से और बाबर उत्तर की ओर से आक्रमण करे. जब आक्रमणकारी ने दिल्ली और आगरा को अधिकृत कर लिया, तब बाबर ने राणा पर अविश्वास का आरोप लगाया. उधर सांगा […]

Read More
 तेजस्वी यादव के राजनीतिक सलाहकार के नाम एक ख़त

तेजस्वी यादव के राजनीतिक सलाहकार के नाम एक ख़त

प्रिय संजय यादव राजनीतिक सलाहकार, नेता प्रतिपक्ष बिहार विधानसभा, पटना आपका फेसबुक पोस्ट पढ़ा। पढ़ने के बाद बहुत अच्छा लगा कि लंबे समय के बाद विपक्ष को राजनीति का एक डॉक्टर मिला है जो राजनीति की बुनियादी समझ रखता है। आपकी पोस्ट से निम्नलिखित बातें निकलकर आती है जिसपर बिंदुवार चर्चा करना उचित है। “लगातार […]

Read More