नोआखली हिंसा पर क्या थे महात्मा गांधी के विचार ?

नोआखली हिंसा पर क्या थे महात्मा गांधी के विचार ?

सम्भव है मुझे नोआखली में कई वर्ष ठहरना पड़े। वे लोग मुझे मार डालें तो इसके लिये भी मैं तैयार हूं। हालांकि मैं जानता हूं कि वे मुझे नहीं मारेंगे। वे जानते हैं मैं दिल से उनका मित्र हूं। यदि नोआखली में हिन्दू और मुसलमान एक साथ नहीं रह सकते तो वे हिंदुस्तान में कहीं […]

Read More
 जो लोग दिल्ली चुनाव में मुफ्तखोरी की बात कर रहे हैं, उन्हे ये लेख पढ़ना चाहिए

जो लोग दिल्ली चुनाव में मुफ्तखोरी की बात कर रहे हैं, उन्हे ये लेख पढ़ना चाहिए

देश के राजनीतिक हलकों में यह शब्द पिछले तीन चार दिनों से गूंज रहा है। भाजपा के नेता, उनके समर्थक और कुछ दक्षिणपंथी झुकाव वाले पत्रकार साथी खास तौर पर इस शब्द को दिल्ली के वोटरों को अपमानित करने के लिये इस्तेमाल कर रहे हैं, क्योंकि उन्होंने मुफ्त बिजली, मुफ्त पानी और महिलाओं के लिये […]

Read More