अफ़ग़ान युद्ध के 20 साल में अमरीका ने क्या पाया और क्या खोया ?

अफ़ग़ान युद्ध के 20 साल में अमरीका ने क्या पाया और क्या खोया ?

बीस साल बाद अफ़ग़ानिस्तान में एक बार फ़िर तालिबान की सत्ता में वापसी हो गई है। एक धड़ा जो तालिबान के समर्थकों का है, वो खुशी मना रहा है। वहीं दूसरे धड़ा जिसे डर है कि अफ़गानिस्तान में तालिबान की सत्ता में वापसी से उनके लिए ठीक नही है, वो चिंतित हैं। वहीं बाक़ी दुनिया […]

Read More
 हाथरस – क्या “विदेशी साज़िश” की थ्योरी, डैमेज कंट्रोल की कोशिश है ?

हाथरस – क्या “विदेशी साज़िश” की थ्योरी, डैमेज कंट्रोल की कोशिश है ?

हाथरस में दलित परिवार की लड़की के साथ बलात्कार और उसके कुछ दिन बाद हुई उसकी मौत और फिर परिवार के बिना लड़की की लाश को पुलिस द्वारा जला देने के कारण, हाथरस पुलिस और योगी आदित्यनाथ की यूपी सरकार ( UP government of Yogi Adityanath ) लगातार अपने रवैये के कारण आलोचानों की शिकार […]

Read More
 भारत में कौन फ़ैला रहा है “इस्लामोफोबिया” ?

भारत में कौन फ़ैला रहा है “इस्लामोफोबिया” ?

इस्लामोफोबिया अर्थात मुस्लिमों और इस्लाम का गैरमुस्लिमों ( जो लोग मुस्लिम नहीं हैं) के दिलोदिमाग में गलत जानकारी के साथ एक बवजह पैदा किए गए डर को कहा जाता है। एक ऐसा डर जिसके कारण सामने वाला व्यक्ति इस्लाम और मुस्लिमों से नफ़रत करने लगता है, सोशल मीडिया के इस दौर में इस्लामोफोबिक कंटेन्ट की […]

Read More
 नज़रिया – झारखंड में टूट गया भाजपा का अहंकार

नज़रिया – झारखंड में टूट गया भाजपा का अहंकार

झारखंड में भारतीय जनता पार्टी की हार के बाद ये तो तय हो गया है, कि हिन्दू राष्ट्रवाद के नाम पर भारतीय जनता पार्टी जो हसीन सपने पाल बैठी थी, वो सारे सपने अब जनता से जुड़े मौलिक मुद्दों के सामने ढेर हो रहे हैं। ज़रा आप सोचिएगा कि ऐसा क्या हुआ कि अभी छह […]

Read More
 यूपी में ये क्या हो रहा है ?

यूपी में ये क्या हो रहा है ?

केंद्र सरकार इस पूरे मुद्दे पर हुई हिंसा को अलग ही रूप देने के मूँड में नजर आ रही है। असम में छात्र संगठनों द्वारा किये गए आंदोलन के दौरान हुई हिंसा के लिए सरकार अब कांग्रेस और कैडर बेस्ड इस्लामिक संगठन PFI को ज़िम्मेदार ठहरा रही है। ज्ञात होकि असम से लेकर दिल्ली, और […]

Read More
 पहले भी साथ आई हैं, अलग-अलग विचारधारा वाली पार्टियां

पहले भी साथ आई हैं, अलग-अलग विचारधारा वाली पार्टियां

द्वितीय विश्व युद्ध के समय ब्रिटिश सरकार के भारतीय सैनिकों को युद्ध में शामिल किये जाने के विरोध के दौरान जब देश भर की कांग्रेस सरकारों ने इस्तीफ़ा दिया था, तब बंगाल, सिंध और खैबर पख्तूनख्वा में हिंदू महासभा और मुस्लिम लीग की गठबंधन सरकारें बनीं थीं। बंगाल की सरकार में तो वो श्यामाप्रसाद मुखर्जी […]

Read More
 नज़रिया – हाफ़िज़ सईद और प्रज्ञा ठाकुर में क्या है समानता ?

नज़रिया – हाफ़िज़ सईद और प्रज्ञा ठाकुर में क्या है समानता ?

अभी पिछले साल ही ( 2018) में पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में चुनाव हुए थे। पाकिस्तान में हुए उन चुनावों में सबकी नज़र कुछ खास सवालों के जवाब ढूंढ रही थी। पहला सवाल ये था, कि क्या इमरान खान क़ामयाब हो पाएंगे ? जिसका जवाब हमें बख़ूबी मिला और इमरान खान पाकिस्तान के सर्वोच्च पद पर […]

Read More
 क्या आप जानते हैं, क्या है जिनेवा संधि ?

क्या आप जानते हैं, क्या है जिनेवा संधि ?

विंग कमांडर अभिनंदन की रिहाई के बाद ही हर किसी की ज़ुबान पर जिनेवा कन्वेंशन ( geneva convention ) का ज़िक्र है. जब भारतीय पायलट अभिनंदन के लापता होने पर उनके पाकिस्तान में होने की ख़बर आई, तब ही से इस बात का ज़िक्र होने लगा था, कि विंग कमांडर अभिनंदन को पाकिस्तान ज़्यादा दिनों […]

Read More
 योगी जी ! हिंदू खतरे में है

योगी जी ! हिंदू खतरे में है

वो तो होना ही है, क्योंकि देश की बड़ी आबादी के मस्तिष्क में धर्म के नाम पर ज़हर भर दिया गया है। इतना कि तालिबान को भी शर्म आ जाये। हिन्दू – मुस्लिम झगड़ों के नाम पर सोशल मीडिया का कचरा भक्तों के दिमाग में भरा जा चुका है। यह कचरा दरअसल साम्प्रदायिकता का बीज […]

Read More
 क्या यूपी-बिहार पर कमलनाथ के बयान को गलत तरह से पेश किया गया ?

क्या यूपी-बिहार पर कमलनाथ के बयान को गलत तरह से पेश किया गया ?

अगर कमलनाथ मध्यप्रदेश में लगने वाले उद्योग धंधों में 70 प्रतिशत रोज़गार लोकल लोगों को देने की बात कर रहे हैं, तो इसमें गलत क्या है। किसी यूपी बिहार वाले से दुश्मनी नही है, पर क्या आपको अपने मुख्यमंत्रीयों और सरकारों से सवाल नही करना चाहिए, कि उद्योग धंधे और नौकरियां क्यों यूपी बिहार में […]

Read More