नज़रिया – यह नागरिकता का प्रकल्प, हिटलर की हूबहू नकल है

नज़रिया – यह नागरिकता का प्रकल्प, हिटलर की हूबहू नकल है

सब जानते हैं, एनपीआर एनआरसी का मूल आधार है। खुद सरकार ने इसकी कई बार घोषणा की है। एनपीआर में तैयार की गई नागरिकों की सूची की ही आगे घर-घर जाकर जाँच करके अधिकारी संदेहास्पद नागरिकों की सिनाख्त करेंगे और सभी को इस सिनाख्त के आधार पर पहचान पत्र दिये जाएँगे। यह पूरा प्रकल्प हुबहू […]

Read More
 सुप्रीम कोर्ट को इस हफ़्ते कुछ दूरगामी महत्व के फ़ैसले सुनाने हैं

सुप्रीम कोर्ट को इस हफ़्ते कुछ दूरगामी महत्व के फ़ैसले सुनाने हैं

सुप्रीम कोर्ट का जज दूध पीता बोध-शून्य बच्चा नहीं होता जिसे अपनी शक्ति का अहसास नहीं होता है। राजनीति के बजाय वह अपनी कुर्सी की नैतिकता से भी बंधा होता है। वह सरकार में थोड़े समय के लिये आए नेताओं का दास नहीं होता है । प्रेमचंद की ‘नमक का दरोग़ा’ कहानी को कमतर नहीं […]

Read More
 नज़रिया- यह बंगाल की अस्मिता पर हमला है

नज़रिया- यह बंगाल की अस्मिता पर हमला है

कल अमित शाह जब मध्य कोलकाता के धर्मतल्ला से उत्तरी कोलकाता में विवेकानंद के निवास तक ‘जय श्री राम’ के उद्घोष के साथ रवाना हुए उसी समय यह साफ़ नजर आ रहा था कि यह चुनावी रोड शो नहीं, बंगाल के खिलाफ भाजपा का एक रण-घोष है । बंगाल की संस्कृति को पैरों तले रौंद […]

Read More
 त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक सरकार का वह भाषण,जिसे आकाशवाणी ने प्रसारित करने से मना कर दिया था

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक सरकार का वह भाषण,जिसे आकाशवाणी ने प्रसारित करने से मना कर दिया था

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक सरकार का वह भाषण जिसे भारत के संघीय ढाँचे के सिद्धांतों का नग्न उल्लंघन करते हुए स्वतंत्रता दिवस के मौक़े पर आकाशवाणी ने प्रसारित करने से इंकार कर दिया : त्रिपुरा के प्रियजनो, स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर आप सबका अभिनंदन और सबको शुभकामनाएं । मैं भारत के स्वतंत्रता आंदोलन के […]

Read More