अगर हवाई सफर के दौरान जब आप विमान में आपका मोबाइल फोन वैसे ही काम करें, जैसा हमेशा करता है वैसा ही विमान में यात्रा के दौरान भी करता रहें.
ये सपना नहीं, अगर सब कुछ सही रहा तो, कुछ ऐसा ही करने का सुझाव भेजने जा रहा है टेलीकॉम अथॉरिटी. ट्राई लगातार लोगों के लिए मोबाइल के इस्तेमाल को आसान बनाने में जुटी हुई है.
जब भी आप हवाई सफर करने के दौरान विमान में बैठते हैं, तो आपको मोबाइल फोन को फ्लाइट मोड में डालने के लिए कहा जाता है. लेकिन जल्द ही आप फ्लाइट में से न सिर्फ कॉल कर पाएंगे, बल्क‍ि बिना किसी दिक्कत के इंटरनेट भी इस्तेमाल कर सकेंगे. इस संबंध टेलीकॉम अथॉरिटी जल्द ही इस संबंध नागरिक उड्डयन निदेशालय को सुझाव भेजेगा.
मिडिया खबरों के अनुसार फ्लाइट से सफर करने के दौरान वॉयस कॉल करने और मोबाइल डाटा का इस्तेमाल करने को लेकर ट्राई ने कुछ सुझाव तैयार किए हैं. इन सुझावों का टेलीकॉम अथॉरिटी जल्द ही डीजीसीए (नागरिक उड्डयन निदेशालय)को भेजेगी.
अगर डीजीसीए ट्राई के सुझावों को मान लेता है, तो वो दिन दूर नहीं, जब आप फ्लाइट में आसानी से वॉयस कॉल कर सकेंगे. इसके साथ ही अपने मोबाइल पर इंटरनेट डाटा भी चला सकेंगे.

ज्ञात रहे, दूरसंचार नियामक ट्राई के एक आधिकारिक बयान में यह जानकारी दी गयी कि ‘‘प्राधिकरण ने किसी अंतरराष्ट्रीय सेवा प्रदाता द्वारा कॉल स्वीकार करने वाले नेटवर्क को किये जाने वाले भुगतान की दर 53 पैसे प्रति मिनट से कम कर 30 पैसे प्रति मिनट कर दिया है.’’

फ्लाइट में सुरक्षा कारणों की वजह से मोबाइल फोन को फ्लाइट मोड में रखने के लिए कहा जाता है. मोबाइल के फ्लाइट मोड में जाने के बाद इससे वॉयस कॉल करना और इंटरनेट का इस्तेमाल करन संभव नहीं हो पाता है.
टेलीकॉम अथॉरिटी इसी का समाधान निकाल रही है और डीजीसीए की अनुमति मिलने के बाद आप आसानी से वॉयस कॉल अपने मोबाइल से कर सकेंगे. इसके साथ ही इंटरनेट का भी बेहिचक इस्तेमाल कर पाएंगे.

About Author

Team TH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *