मर्दों के अंदर धर्मांन्धता, जातीयता, मर्दानगी का अहंकार भरा है

मर्दों के अंदर धर्मांन्धता, जातीयता, मर्दानगी का अहंकार भरा है

बलात्कार के मामले को इस सरकार बनाम उस सरकार का मुद्दा बना कर देख लिया गया। कठुआ बनाम उन्नाव का मुद्दा बनाकर देख लिया गया। हिन्दू बनाम मुसलमान बनाकर देख लिया गया। अपराधियों के मज़हब देखे गए। पीड़िता का जात धर्म देख लिया गया। राजनीति का कोई ऐसा गर्त न रहा होगा जहाँ बलात्कार का […]

Read More