ठिठुरता बचपन, सिकुड़ती शिक्षा

ठिठुरता बचपन, सिकुड़ती शिक्षा

ठंड के दिन थे, सुबह की 7 बजे थे। कड़कड़ाके की ठंड थी, मेरी बिटिया की स्कूल बस मिस हो गई थी। इसलिए मैं उसे स्कूल छोड़ने जा रहा था । रास्ते में देखता हूँ की मेरा दोस्त अपने तीन साल के बच्चे को शहर के सबसे बड़े और महंगे लेकिन बहुत दूर स्थित स्कूल […]

Read More