गुरुवार को दिल्ली के मालवीय नगर इलाके के बेगमपुर इलाके में कुछ लोगों ने मोहम्मद अज़ीम की हत्या कर दी. अज़ीम एक 8 वर्षीय बच्चा था, जो बेगमपुर स्थित एक मदरसे का छात्र था. नफ़रत के शिकार अज़ीम की हत्या के मामले में पुलिस ने धारा 302 के तहत मामला दर्ज करते हुए 4 लोगों को गिरफ्तार किया है.

प्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्ता नदीम खान के नेतृत्व में यूनाइटेड अगेन्स्ट हेट की एक टीम ने मदरसा का दौरा किया और छात्रों और मदरसा प्रबंधकों से बातचीत की.

उन्होंने नदीम से कहा कि यह घटना गुरुवार को दोपहर के आसपास हुई थी, उस समय मदरसा बंद था. छात्रावास में रहने वाले कुछ छात्र मदरसा के बाहर खेल रहे थे, उसी समय इलाके के कुछ युवाओं ने उन पर हमला किया. इस हमले में कुछ बच्चों को मामूली चोट आई हैं. जबकि अज़ीम, जो बाइक पर से फेंक दिया गया था, उसे अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

छात्रों और मदरसा के अधिकारियों ने यूनाइटेड अगेन्स्ट हेट टीम को बताया कि स्थानीय लोग नियमित रूप से उन्हें परेशान कर रहे हैं. मदरसा-सह-मस्जिद परिसर के अंदर खाली व्हिस्की की बोतलें फेंकी जाती हैं.

दौरे के बाद यूनाईटेड अगेंस्ट हेट के नदीम खान ने अपनी फ़ेसबुक पोस्ट के ज़रिये बताया कि

कल मालवीय नगर के बेगमपुर के मदरसे में 7.5 साल के अज़ीम को पीट पीट कर मार दिया गया. कुछ दोस्त कह रहे है कि ये साम्प्रदायिक है, कुछ कह रहे है कि नफरत की घटना हेट क्राइम है. कुछ कह रहे है दिल्ली बड़ा शहर है किसी एक घटना को तूल न दिया जाए. कुछ पॉइंट है आप देख ले फिर तय कर ले.

  • पिछले एक साल में कम से कम 15 बार मदरसे के बच्चों की पिटाई हुई.
  • शराब की बोतलें मस्जिद के प्रांगण में डाली गई.
  • मस्जिद के सहन में रामलीला का रावण बनाया गया विरोध के बाद भी नही हटाया गया.
  • पिछले महीने जमाअत के बीच मे शराब की बोतल फेंकी गई जिसमें शराब भी थी.
  • पिछले जुमे में जुमे की नमाज़ के बीच मे पटाखे छोड़े गए.
  • दो लड़कों को जिन्होंने अज़ीम को मारा था उनको भीड़ छुड़ा कर ले गयी और इन लड़को से कहा गया कि उनको कुछ भी नही होने दिया जाएगा.
  • सरोज नाम की महिला जो लगातार मदरसे के बच्चों को प्रताड़ित करती रहती है धर्मिक भावनाएं भड़काती है उसने कल फिर कहा कि अभी एक को मरवाया है अभी और मरवाएँगे.

इन तमाम घटनाओं की शिकायत लगातार बीट पुलिस ऑफिसर को दी गयी कोई कार्यवाही नही हुई, कल पुलिस ने FIR अपने स्वयं संज्ञान से करी है जिसमे ये डिटेल नही है. लेकिन मदरसा प्रिंसिपल और अज़ीम के पिता ने जो कंप्लेन करी है, उसमें साफ लिखा है ये सिलसिला काफी टाइम से चल रहा है. जिसकी पुलिस रिसिविंग हो चुकी है.  अब आप तय करे कि ये घटना क्या है?

Image may contain: one or more people and shoes

तस्वीर अंदर तक हिला देने वाली है जब छोटे छोटे बच्चे अपने एक साथी के लिए जो अब उनके बीच नही रहा उसके लिए उसके इंसाफ के लिए कल रात कुरान पढ़ रहे थे . बाकी बच्चो की हालत क्या होगी ये सोचते ही सिहरन हो रही है.