पाकिस्तान के 22 वें प्रधानमंत्री के तौर पर पूर्व क्रिकेटर इमरान खान ने 18 अगस्त 2018 को शपथ लेली है. उनके इस शपथ समारोह में पूर्व भारतीय क्रिकेटर और पंजाब की कांग्रेस सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने भी शिरकत की है.

इस समारोह में शामिल होने पर भारतीय मीडिया सिद्धू पर निशाना साधे हुए है, वहीं सोशल मीडिया में भी कुछ लोग सिद्धू को निशाने पर लिए हुए हैं. वहीं कांग्रेस प्रवक्ता राशिद अलवी ने कहा है, कि अगर वो मुझसे मिलते तो मैं उन्हें न जाने की सलाह देता.

इमरान खान के इस शपथ ग्रहण समारोह में सिद्धू को POK के राष्ट्रपति के बाजू की सीट में बैठाया गया. शपथ स्थल में पाकिस्तान सेना प्रमुख कमर बाजवा से सिद्धू का गले मिलना उनके विरोधियों और कुछ मीडिया एंकर्स को नहीं भाया. जिसके बाद सिद्धू के विरुद्ध ब्रेकिंग न्यूज़ और सोशल मीडिया में बावेला खड़ा कर दिया गया.

इस हल्ले के बाद पूर्व आप नेता, स्तंभकार व लेखक आशूतोष ने सिद्धू की पाक यात्रा का विरोध करने वालों को निशाने पर लिया है.

अपने ट्वीट में आशुतोष ने कहा

अभी @indiatvnews पर मेजर जनरल सिन्हा को सुना. सिद्धू के पाकिस्तान सेना प्रमुख से गले लगने पर भड़के हुये थे. आशा करता हूँ जो शब्द सिद्धू के लिये कहे वही उनकी ज़ुबान से तब भी निकला होगा जब मोदी लाहौर में नवाज़ शरीफ़ को केक खिलाने पंहुंचे थे, गले लगे थे. सिंन्हा साहब देशभक्त जो है.

न्यूज़ चैनल्स के एंकर जिस अंदाज़ में सिद्धू को निशाना बना रहे हैं, उस पर भी आशुतोष ने ट्वीट करते हुए कहा-

कुछ टीवी चैनेल ये बहस कर रहे हैं कि सिद्धू सेना प्रमुख से गले कैसे मिले? ग़ज़ब हाल है इस देश के टीवी का? सब देशप्रेमी है. इस पर बहस नहीं कि इमरान के बाद भारत पाक रिश्तों का क्या होगा? जस एंकर, तस गेस्ट, वैसे टीवी. दिक्कत – भारत पाक रिश्तों पर बहस के लिये पढ़ाई लिखाई चाहिये.

एक और ट्वीट में आशुतोष ने पूछा, क्या दुश्मन देश के प्रधानमंत्री शपथग्रहण लाईव दिखाना देशद्रोह नहीं है?

वैसे देशभक्त चैनलों/एंकरों से पूछना चाहता हूँ कि दुश्मन देश के प्रधानमंत्री का शपथ ग्रहण समारोह टीवी पर Live दिखाना क्या देशद्रोह है? जो सघन देशप्रेमी/एंकर/गेस्ट इसमें हिस्सा ले रहे हैं क्या वो भी देशद्रोही हैं? एक सवाल @ZeeNewsHindi @TimesNow @republic