हैदराबाद, 1 मई को हैदराबाद में पुलिस ने सैय्यद अब्दुल मुसव्वीर नामक युवक को उसके आवास से इसलिये गिरफ्तार कर लिया क्योंकि वो सरकार और प्रधानमंत्री की नीतियों से खुश नहीं था। बता़या जा रहा है कि सैय्यद, मोदी जी से नाराज है और उनकी नीतियों के विरोध में फेसबुक पर पेज चलाता है। और जनता को सरकार के झूठ से बचाने के लिये तमाम तरह की जानकारियाँ अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट करता है।

सरकार को ये बात इतनी नागवार गुजरी कि बिना किसी मुकदमे या आपराधिक धारा के युवक को गिरफ्तार करवा लिया गया। बाद में सैय्यद को पेशी के लिये दिल्ली लाया गया जहाँ उसे पुलिस ने कोर्ट में पेश किया

हालाँकि हमारे दिल्ली संवाददाता ने खबर दी है कि कोर्ट में आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती ने आज सैय्यद की जमानत करायी और कोर्ट ने उसे तुरंत जमानत दे दी, इस घटना से अभिव्यक्ति की आजादी एक बार फिर सवालों के घेरे में है।

पिछले दिनों फेक न्यूज पर पत्रकारों का लाइसेंस रद्द करने की बात भी स्मृति ईरानी ने की थी, बाद में प्रधानमंत्री ने इसे नकार दिया था। गौरतलब है कि विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों पर भाजपा सहित विभिन्न पार्टियाँ झूठ परोस रही हैं। ऐसे में अब देखना ये होगा कि क्या उन पर कोई कार्यवाही होती है या केवल सरकार के विरोध में खड़े होने वाले लोगों पर ही पुलिस की निगाहें हैं?