टाइम्स ऑफ इंडिया की एक ख़बर के मुताबिक़ रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ़ अर्णब गोस्वामी पर एक शख़्स को आत्महत्या के लिए उकसाने के तहत एफ़आईआर दर्ज़ की गई है.

महाराष्ट्र पुलिस ने अंग्रेजी समाचार चैनल ‘रिपब्लिक टीवी’ के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी समेत तीन लोगों के खिलाफ आत्महत्या मामले में एफआईआर दर्ज की है. तीनों पर एक इंटीरियर डिजाइनर को खुदकुशी के लिए उकसाने का आरोप है.

बीते शनिवार (5 मई) को इंटीरियर डिजाइनर ने अपने आवास पर आत्महत्या कर ली थी. इंटीरियर डेकोरेटर की पहचान अन्वय नाईक (53) के तौर पर हुई है. इंटीरियर डिजाइनर की पत्नी ने अर्नब गोस्वामी के चैनल रिपब्लिक टीवी पर बकाया राशि नहीं देने का आरोप लगाया है.

अर्णब समेत दो अन्य लोगों पर भी मामला दर्ज किया गया है. अलीबाग पुलिस स्टेशन में 53 साल के इंटीरियर डिज़ाइनर की आत्महत्या के मामले में अर्णब समेत फिरोज़ शेख़ और नीतेश शारदा पर केस दर्ज किया गया है. पुलिस को एक सुसाइड नोट भी मिला है लेकिन बगल में ही मां का शव भी मिला है.

अन्वय नायक नाम का ये शख़्स कॉनकोर डिज़ाइन्स प्राइवेट लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर थे. अख़बार का कहना है कि अर्णब समेत अन्य दो लोगों ने अन्वय का क़रीब 5 करोड़ 40 लाख रुपये का बकाया नहीं चुकाया था.

मृतक की पत्नी अक्षता ने बाद में मामले की जानकारी पुलिस को दी. एफ़आईआर के मुताबिक़, अरनब पर 83 लाख रुपये का उधार है.

पुलिस अधिकारी अनिल परास्कर ने बताया कि सुसाइड नोट में नायक ने अर्णब का नाम भी लिखा है. हालांकि रिपब्लिक टीवी की ओर से इन सारे आरोपों को ग़लत बताया गया है